Blog

NKS

Yatharth Sandesh
28 Sep, 2017(Hindi)
World

इस्लाम का अपमान करने पर र्इसाई व्यक्ति को मिली मौत की सजा, भारत में हिन्दू धर्म का अनादर कब रूकेगा ?

/
0 Reviews
Write a Review

985 Views

 
लाहौर – पाकिस्तान में अपने दोस्त को वॉट्सऐप पर इस्लाम पर अपमानजनक संदेश भेजने पर एक इसाई व्यक्ति को मौत की सजा सुनायी गई है। नदीम जेम्स मसीह को जुलाई में इस मामले में आरोपी बनाया गया था। उसके दोस्त ने ही पुलिस में शिकायत की थी कि मसीह ने उसे वॉट्सऐप पर एक ऐसी कविता भेजी जो इस्लाम का अपमान कर रह रही थी।

इस कविता के बारे में पता चलते ही पंजाब प्रांत के सारा-ए-आलमगीर कस्बे में आक्रोशित लोगों की भीड ने मसीह पर आक्रमण करने की कोशिश की थी, किंतु वह बचने के लिए अपने घर से भाग गया था। बाद में उसने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था।

न्यायालय के एक अधिकारी ने बताया कि, मसीह पर 300,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है।

इस समाचार से पाकिस्तान में धर्मभावनाआें की कितनी कदर की जाती है यह ध्यान में आता है । इसलिए कर्इ इस्लामी राष्ट्रो में किसी का र्इशनिंदा करने का साहस नहीं होता । यदि र्इशनिंदा होती है, उसके लिए सजा-ए-मौत जैसे कठोर प्रावधन है ।

इसके विपरीत भारत में खुलेआम हिन्दु देवी-देवताआें का अपमान किया जाता है । यहां अनादर होनेपर साधारण अपराध भी प्रविष्ट नहीं होता । भारत के जन्महिन्दू इसे हंसी-मजाक के तौर देखते है आैर उसे छोड देते है । यह सब धर्मशिक्षा के अभाव का ही कारण है । इसलिए हिन्दुआें को आज धर्मशिक्षा लेने की आवश्यकता है ।

Featured Posts

Reviews

Write a Review

Select Rating