Blogs

Featured Posts

Members
Filter

Sort by:
Most Viewed
  • Yatharth Sandesh

    Yatharth Sandesh
    24 Oct, 2022, 03:53:AM (Hindi)
    Articles

    परम प्रकाश का प्रतीक है ‘दीपावली’

    भीतर तो है ही नहीं, बाहर में प्रकाश।
    कह कबीर कवलों हरी, छपरा पर की घास।।
    राम नाम मणि दीप धरि, जीह देहरी द्वार।
    तुलसी भीतर बाहरो, जो चाहत उजियार।।
    आज दीपावली का पवित्र पर्व मानने के लिए इस पवित्र स्थल पर हम सब एकत्रित हुए हैं। हमारे देश की पवित्र परम्परा अनादिकाल से रही है। जिसको कायम रखने के लिए हमारे ऋषियों ने विविध माध्यमों से संदेश देनेे का प्रयास किया। जिन्होंने ईश्वर के…
    More »

    Tags : #???????, #dipawali

    Views: 284, Comments: 0  

  • Yatharth Sandesh

    Yatharth Sandesh
    05 Oct, 2022, 10:59:AM (Hindi)
    Articles

    विजय दशमी का स्वरुप

    प्रत्येक पर्व चाहे राष्ट्रीय हो या धार्मिक लोग एक दूसरे को बधाई देते हैं। धन्यवाद देते हैं, मुबारक बाद देते हैं। मनुष्यों के पास कुछ रटे रटाये शब्दकोष होते हैं। दुख के अवसरों पर दुख प्रकट करने वाले खुशी के अवसर पर खुशी प्रकट करने वाले, किसी के घर जाकर या मंच से किसी के निधन पर किसी ने प्रसन्नता प्रकट की हो ऐसा कभी न हुआ है, न हो सकता है। कुछ रटे रटाये शब्द कोषों को दुहरा देने मात्र से कर्तव्य की पूर्ति…
    More »

    Tags : #vijay dashmi, #???? ????

    Views: 280, Comments: 0  

  • Yatharth Sandesh

    Yatharth Sandesh
    01 Dec, 2022, 10:45:AM (Hindi)
    Articles

    नवरात्री पर्व की आध्यात्मिक व्याख्या

    आज नवरात्रि चल रहे हैं। आप सबने नवरात्रि मना रहे हैं। कुछ लोग श्रद्धा से व्रत भी रख रहे हैं। मनुष्य में श्रद्धा की कमी नहीं हर मनुष्य में श्रद्धा है। और उसकी श्रद्धा कहीं न कहीं लगी है इस धरती पर कोई ऐसा व्यक्ति नहीं है जिसके अन्दर श्रद्धा न हो। हमारी श्रद्धा कहीं माता-पिता में है, कहीं पत्नी बच्चे में है, कहीं मित्र में है, कहीं धन में है, कहीं पद में है, कहीं सम्मान में है, कहीं देवी में है और कहीं…
    More »

    Tags : #navratri, #????????

    Views: 451, Comments: 1  

  • Yatharth Sandesh

    Yatharth Sandesh
    30 Mar, 2021, 08:38:AM (English)
    Articles

    Gateway of Liberty.

    Gateway of Liberty.

    The whole humankind is descendent of only Manu(Adam). For hundreds of years man was living in tiny tribes at forest. Every tribe had its own languages, traditions and ceremonies but they had same eating and living system. In the beginning they used tree bark further they used animal skin, whatever animals were found in their region.
    It was totally misguided…
    More »

    Views: 757, Comments: 0  

  • Yatharth Sandesh

    Yatharth Sandesh
    30 Mar, 2021, 08:37:AM (English)
    Articles

    Geeta : Not just part of syllabus but Theology of the world.

    Geeta : Not just part of syllabus but Theology of the world.


    Each country has her own theological Text. India who was the first to give the message of what is Dharm to the world has surprisingly no theological Text of her own to claim. We have national flag, anthem, animal, bird and flower but no specific theological text.
    There was no other country like India in the world.…
    More »

    Views: 725, Comments: 0